भैया आपन देशवा जगकय जान बनावेवाला बा :राकेश यादव

Logo १२ असार २०७८, शनिबार ०८:१० | Aadil Times                  

भोजपुरी कबिता –
लेखक- राकेश कुमार यादव
फोन नं -९८४९१२२२७३
गा. पा.- रोहिणी
वार्ड नं – ७, रूपन्देही
प्रदेश नं – ५, लुम्बिनी
कबिता शीर्षक- ‘देशप्रेम’
२०७७/१०/२५
बस चन्द दिननमें चन्दा पे, खलिहान बनावेवाला बा |
भैया आपन देशवा जगकय जान बनावेवाला बा ||
कृषि क्रांति से मची तहलका, उद्योगसे डंका बाजी अब |
बिजनेस,सर्विससे कही उछलके,Tour लगाई आगी अब ||
जलविद्युत में सूरज के, मेहमान बनावेवाला बा ||
भैया आपन देशवा………………. ….
रोग, गरीबी, भुखमरी, सब दूर भगाई माटी से |
समृद्ध सुशासन हावा में लहरी, दुश्मन तकिहंय टाटीसे ||
चोर, डकैती मुक्त अहो, इमान बनावेवाला बा ||
भैया आपन देशवा………….., ……..
हत्या, हिंसा, बलात्कार न रही जी कउनो कोना में |
सुविचारनकय अमृतपान, करइहंय लरिके दोनामें ||
देशप्रेममें अर्पित सब, इन्सान बनावेवाला बा ||
भैया आपन देशवा……………. ……..
बुद्धभूमियस भूमि कहाँ, माँ जननी जेकर सीता बा |
तपोभूमि रंगीन जहाँ, हर धर्मकय एक पलिता बा ||
वाह! शान्तिदूत कय दर्शन, सब हैरान बनावेवाला बा ||
भैया आपन देशवा……………………..
—_—————- ‘समाप्त’ — ——————

gorkhali-news

सम्बन्धित खबर


gorkhali-news